Gram harvesting

चने की कटाई:- जब अधिकांश फली पीली हो जाएं तो चने की कटाई करनी चाहिये। चने में लगभग 15 प्रतिशत तक नमी रहनी चाहिये|

  • जब अधिकांश फली पीली हो जाएं तो चने की कटाई करनी चाहिये।
  • चने में लगभग 15 प्रतिशत तक नमी रहनी चाहिये|
  • जब पौधा सूख जाता हैंं, और पत्तियां लाल भूरे रंग की हो जाती हैंं,और पत्तियां गिरना शुरू हो जाती हैंं, तो फसल कटाई के लिए तैयार हो जाती हैंं।

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

High yielding moong varieties in summer

गर्मियों में उच्च उपज देने वाली मूंग:-विराट, सम्राट, खरगोन 1, कृष्णा 11, जवाहर 45, कोपरगाँव, मोहिनी (S-8), PS 16, पंत मूंग 3, पूसा 105, ML 337, पीडीएम 11 (बसंत) टाइप 1, टाइप 4, टाइप 51, K851, पूसा बैसाखी

  • विराट, सम्राट, खरगोन 1, कृष्णा 11, जवाहर 45, कोपरगाँव, मोहिनी (S-8), PS 16, पंत मूंग 3, पूसा 105, ML 337, पीडीएम 11 (बसंत) टाइप 1, टाइप 4, टाइप 51, K851, पूसा बैसाखी, 6, PS 10, PS 7, पंत मुंग 2, ML-267, पुसा 105, ML-337, पंत मुंग 1, RUM-1, RUM-12, बीएम -4, पीडीएम -54, जेएम -72, के -851, पीडीएम -11.

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Thrips control in tomato

टमाटर में थ्रिप्स (तैला) का नियंत्रण:-थ्रिप्स पौधों का रस चूसता हे जिससे पौधे पीले व कमज़ोर हो जाते है उपज कम होती है|

  • थ्रिप्स पौधों का रस चूसता हे जिससे पौधे पीले व कमज़ोर हो जाते है उपज कम होती है|
  • इसके नियंत्रण के लिए प्रोफेनोफोस 3 मिली. प्रति ली. पानी या फिप्रोनिल 3 मिली. प्रति ली. पानी  या थायमेथोक्जोम 0.5 ग्राम प्रति ली. पानी का स्प्रे हर 10 दिन के अंतराल पर करे |

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Disadvantages of burning Sawdust/Chaff/Straw

फसल अवशेष/भूसा /पुआल जलाने का नुकसान:- खुले में फसल अवशेषों को जलाने से वायु प्रदुषण के साथ वायु की गुणवत्ता एवं मानव स्वास्थ पर बुरा प्रभाव एक चिंता का विषय हे|……

  • खुले में फसल अवशेषों को जलाने से वायु प्रदुषण के साथ वायु की गुणवत्ता एवं मानव स्वास्थ पर बुरा प्रभाव एक चिंता का विषय हे|
  • इससे मिट्टी में पोषक तत्वों के साथ मिट्टी में उपलब्ध सूक्ष्मजीवो के ऊपर भी बुरा प्रभाव पड़ता हैंं।
  • जलने से खेतों में और बाहर गंभीर वायु प्रदूषण होता हैंं। खेती के क्षेत्रों में धुएं और प्रदूषित हवा से लोग प्रभावित हैंं| और खेतों से सैकड़ों किलोमीटर दूर तक धुऐ का फैलाव हो जाता हैंं।
  • खेत में भूसे को जलाने से मिट्टी में नमी की कमी हो जाती हैंं साथ ही मृदा स्वस्थ में गिरावट होती हैंं|
  • भूसे को जलाने से CO2 गैस का निष्कासन होता हैंं| जो ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन को बढ़ा देगी।
  • कभी कभी आग अनियंत्रित हो जाती हैंं जिससे भारी नुकसान होने की सम्भावना रहती हैंं।

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Picking of Tomato

टमाटर की तुड़ाई:- टमाटर की तुड़ाई उसके उपयोग पर निर्भर करती हैं आमतौर पर चार अवस्थाएँ पहचानी गयी हैं|..

टमाटर की तुड़ाई उसके उपयोग पर निर्भर करती हैं आमतौर पर चार अवस्थाएँ पहचानी गयी हैं|

  • हरा फल:- पूरी तरह से विकसित हरा फल लम्बी दूरी के बाज़ार के लिए तोड़ा जाता हैं|
  • गुलाबी फल:- फलों के सिरे का रंग गुलाबी या लाल होने लगता हैं तब फलों को लोकल बाज़ार के लिए तोड़ा जाता हैं|
  • परिपक्व फल:- फल लगभग लाल हो जाता हैं और कोमल होना शुरू होता हैं|
  • पूर्ण परिपक्व फल:- फल पूरी तरह लाल और कोमल हो जाता हैं| ऐसे फलों को डिब्बा बंदी और प्रोसेसिंग के लिए तोड़ा जाता हैं|

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Control of Powdery Mildew of muskmelon

ख़रबूज़ा में भभूतिया रोग का नियंत्रण:- पत्तियों पर सफ़ेद या धूसर रंग के धब्बों का निर्माण होता है| जो बाद में बढ़कर सफ़ेद रंग का पाउडर में बदल जाते है|…….

  • पत्तियों पर सफ़ेद या धूसर रंग के धब्बों का निर्माण होता है| जो बाद में बढ़कर सफ़ेद रंग का पाउडर में बदल जाते है|
  • पंद्रह दिन के अंतराल से हेक्ज़ाकोनाजोल 5% SC 300 मिली. प्रति एकड़ या थायोफिनेट मिथाईल 400 ग्राम प्रति एकड़ का घोल बनाकर छिडकाव करें|

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Downy mildew control in muskmelon

ख़रबूज़ा में डाऊनी मिल्ड्यू (मृदुरोमिल आसिता) का नियंत्रण:- पत्तियों की निचली सतह पर पानी वाले धब्बे बन जाते हैं| जब पत्तियों के निचली सतह पर पानी वाले धब्बे होता हैंं, प्रायः उसी के अनुरूप….

  • पत्तियों की निचली सतह पर पानी वाले धब्बे बन जाते हैं|
  • जब पत्तियों के निचली सतह पर पानी वाले धब्बे होता हैंं, प्रायः उसी के अनुरूप ही ऊपरी सतह पर कोणीय धब्बे बनते हैंं।
  • धब्बे सबसे पहले पुरानी पत्तियों पर बनते हैंं जो धीरे-धीरे नई पत्तियों पर फैलते हैंं।
  • जब धब्बे फैलने लगते हैं तो यह पीली और फिर भूरे एवं सूखे हुए होते हैं|
  • ग्रसित लताओं पर फल नही लगते हैंं।
  • प्रभावित पत्तियों को तोड़कर नष्ट कर दें।
  • मैंकोजेब 75% WP @ 350-400 ग्राम / एकड़ या क्लोरोथालोनिल 75% WP @ 200-250 ग्राम / एकड़ के हिसाब से स्प्रे करें|
  • फसल चक्र को अपना कर एवं खेत की सफाई कर रोग की आक्रामकता को कम कर सकते हैंं।

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Seed rate in green gram (Moong)

मुंग की बीज दर:- खरीफ के मौसम के लिए, बीज दर 8-9 किग्रा / एकड़ का उपयोग करें जबकि गर्मियों के मौसम में बीज की दर 12-15 किग्रा / एकड़ हैंं।

  • खरीफ के मौसम के लिए, बीज दर 8-9 किग्रा / एकड़ का उपयोग करें जबकि गर्मियों के मौसम में बीज की दर 12-15 किग्रा / एकड़ हैंं।

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Maturity index of wheat

गेहूं की परिपक्वता की पहचान:-फसल तब काटी जाती हैंं जब दाने कठोर हो जाता हैंं और पुआल पीला सूखा और भंगुर हो जाता हैंं।
अनाज में लगभग 15 प्रतिशत नमी होने पर कटाई की जाती हैंं।….

  • फसल तब काटी जाती हैंं जब दाने कठोर हो जाता हैंं और पुआल पीला सूखा और भंगुर हो जाता हैंं।
  • अनाज में लगभग 15 प्रतिशत नमी होने पर कटाई की जाती हैंं।
  • गेहूं की कटाई के समय गेहूं की वाली पीली हो जानी चाहिये।
  • गेहूं की बुआई से 110-130 दिनों बाद पर गेहूं कटाई की जाती हैंं।

नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

0
Share

Maturity signs of watermelon

तरबूज में फल पकने की पहचान:-फल बुआई के 90 -120 दिन बाद तोड़ने लायक हो जाते हैं| पके हुए फलों पर हाथ से थप्पी देने पर भारी आवाज़ निकलती हैं| लेकिन अपरिपक्व फल मे से मेटलिक साउंड आता हैं|…

  • फल बुआई के 90 -120 दिन बाद तोड़ने लायक हो जाते हैं|
  • पके हुए फलों पर हाथ से थप्पी देने पर भारी आवाज़ निकलती हैं| लेकिन अपरिपक्व फल मे से मेटलिक साउंड आता हैं|
  • जमीन की सतह से लगा तरबूज का भाग सफ़ेद से पीला होने लगता हैं|
  • फल से लगा डंठल सूखने लगता हैं |
  • कुछ किस्मों में फल की सतह पर हाथ फेरने से परिपक्वता का अंदाज़ा लग जाता हैं|

 नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अन्य किसानों के साथ साझा करें।

1 Like
Share